आखिर क्यों अभिनेता महमूद से डरा करते थे किशोर कुमार

आखिर क्यों अभिनेता महमूद से डरा करते थे किशोर कुमार


साल १९६८ की फिल्म 'किस्मत' में एक बाल कलाकार के रूप में काम की शुरुवात करने वाले महमूद ने इसके बाद भी कुछ फिल्मों में बाल कलाकार के तौर पर कुछ फिल्मों में काम किया। इसके बाद अभिनेता के तौर पर काम करने से पहले उन्होंने छोटे-मोटे खूब काम किये। इनमें निर्माता-निर्देशक पी एल संतोषी के लिए उनके ड्राइवर का काम, अंडे बेचने का काम और मीना कुमारी जी को टेबल टेनिस सिखाने का काम भी उन्होंने किया है।


Third party image reference
मीना कुमारी जी को टेबल टेनिस सिखाने के दौरान उनकी बहन मधु से महमूद को प्यार हो गया और दोनों ने शादी कर ली। शादी करने और पिता बनने के बाद ज्यादा पैसे कमाने के लिए उन्होंने अभिनय करने का निश्चय किया। 'दो बीघा जमीन' और 'प्यासा' जैसी फिल्मों में छोटे-मोटे रोल करने के बाद साल १९५८ की फिल्म 'परवरिश' उन्हें बड़ा ब्रेक मिला। इस फिल्म में उन्होंने अभिनेता राजकपूर के बड़े भाई का किरदार निभाया था।


Third party image reference
इसके बाद 'गुमनाम', 'प्यार किये जा', 'प्यार ही प्यार', 'ससुराल', 'लव इन टोक्यो' और 'जिद्दी' जैसी हिट फ़िल्में महमूद साहब ने दी। कुछ फिल्मों में उन्होंने मुख्य भूमिका भी निभाई, मगर दर्शकों ने उन्हें एक कॉमेडियन के तौर पर ज्यादा पसंद किया। कॉमेडी में महमूद साहब के अलावा किसी को पसंद किया जाता तो वो थे किशोर कुमार साहब जो उनसे पहले ही कॉमेडी में महारत हासिल कर चुके थे।


Third party image reference
लेखक मनमोहन मेलविले ने अपने एक लेख में महमूद और किशोर कुमार के बारे में एक दिलचस्प किस्सा बताया है। जिसमें बताया गया है कि जब किशोर कुमार अपने करियर के सुनहरे दौर से गुजर रहे थे तब महमूद ने उन्हें अपनी किसी फिल्म में भूमिका देने की गुजारिश की थी। लेकिन किशोर कुमार, महमूद की प्रतिभा से अच्छी तरह से वाकिब थे। उन्होंने कहा था कि 'वो ऐसे किसी व्यक्ति को मौका कैसे दे सकते है, जो आगे चलकर उन्हें चुनौती दे सकता है।'


Third party image reference
इस पर महमूद ने बड़ा दिलचस्प जवाब देते हुए कहा था कि 'एक दिन मैं भी बड़ा फिल्मकार बन जाऊंगा और आपको अपनी फिल्म में भूमिका दे दूंगा।' महमूद अपनी बात के पक्के निकले और आगे चलकर अपनी होम प्रोडक्शन फिल्म 'पड़ोसन' में किशोर कुमार को रोल दिया। इन दोनों महान कलाकारों की जुगलबंदी से यह फिल्म बॉलीवुड की सबसे बड़ी कॉमेडी फिल्म साबित हुई।


Third party image reference
मशहूर वेबसाइट 'लहरें' के मुताबिक उस दौर में महमूद और किशोर कुमार ही ऐसे थे जो किसी से नहीं डरा करते थे। मगर इन दोनों को एक दूसरे से डर लगा करता था। महमूद के मुताबिक किशोर कुमार एक ऐसे कलाकार थे जो कभी भी कुछ भी कर जाते थे। ठीक वैसे ही किशोर कुमार साहब के मुताबिक वो महमूद के सामने कुछ भी नहीं थे। यही कारण था कि किशोर कुमार, महमूद के साथ स्क्रीन शेयर करने से डरते थे।


Third party image reference
ऐसा कहा जाता है कि इन दोनों कलाकारों के सामने तो बड़े-बड़े अभिनेताओं के भी पसीने छूट जाया करते थे और ये दोनों हर सीन को आसान बना दिया करते थे। फिल्म 'पड़ोसन' के अलावा ये दोनों 'साधु और शैतान' और 'प्यार किये जा' फिल्म में एक साथ नज़र आये थे। भले ही आज ये दोनों महान कलाकार अब इस दुनिया में नहीं है मगर ये दोनों आज भी दर्शकों के दिलों में जिंदा है।

😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments