मुंबई से दरभंगा पहुंची मजदूर महिला ने रखा बच्चें का नाम Sonu Sood, अभिनेता बोले 'ये है मेरे लिए रियल अवॉर्ड'

मुंबई से दरभंगा पहुंची मजदूर महिला ने रखा बच्चें का नाम Sonu Sood, अभिनेता बोले 'ये है मेरे लिए रियल अवॉर्ड'


नई दिल्ली। कोरोनावायरस ( Coronavirus ) का सबस बुरा असर प्रवासी मजदूरों ( MigrantWorkers ) और गरीब वर्ग ( Poor People) पर पड़ा है। घर पहुंचने की चाह में कई लोगो हज़ारों किलोमीटर पैदल ही घर पहुंचने की चाहर लेकर चलने लगे। सरकार की तरफ से इन लोगों की किसी तरह की सुविधा नहीं दी गई। इस बीच अभिनेता सोनू सूद ( Actor Sonu Sood Helping Migrant Workers ) प्रवासी मजदूरों और गरीबों के भगवान बनकर उनकी मदद के लिए आगे आए। उन्होंने लॉकडाउन में अलग-अलग राज्यों में फंसे लोगों को अपनी टीम ( Sonu Sood Team ) की मदद से उन्हें घर पहुंचाने का काम शुरू कर दिया। गरीबों और जरूरतमंदों को खाना पहुंचाना शुरू कर दिया। आज उनके कामों की चर्चा चारों तरफ हो रही है। सोशल मीडिया पर उन्हें प्रवासी मजदूर का रीयल लाइफ हीरो ( Real Life Hero ) कहा जाने लगा है। यही नही सोनू के काम को देखकर एक मां इतनी प्रभावित हुईं कि उन्होंने अपने बच्चे को जन्म देते ही उसका नाम सोनू सूद रख दिया है। इस बात ने सबका दिल जीत लिया है।

Sonu Sood Helping Migrant Workers

सोशल मीडिया पर वायरल ( Social Media) हो रहे इस किस्से के बारें आज हर जगह चर्चा हो रही है। दरअसल जिस महिला को बच्चा हुआ उसे सोनू ने ही घर पहुंचाया था। वह बिहार ( Bihar) के दरभंगा ( Darbhanga ) की रहने वाली हैं। मजदूर महिला ( pregnant Migrant Lady ) को जब बच्चा पैदा हुआ तो उसने बच्चें का नाम ही सोनू सूद ( Sonu Sood Named Her New Born Baby ) रख दिया। इस बारें में जानकारी देते हुए सोनू ने बताया कि महिला के परिवालों ने उन्हें खुद फोन करके जानकारी दी थी कि महिला ने एक बेटे को जन्म दिया है। जिसका नाम उन्होंने सोनू सूद रखा है। जब उन्होंने पूछा कि आप तो श्रीवास्तव है फिर सूद कैसे? तो महिला ने कहा कि बच्चे का पूरा नाम सोनू सूद श्रीवास्तव ( Sonu Sood Shrivastav ) है। जिसके बाद सोनू ने उन्हें स्पेशल फील करवाने के लिए शुक्रिया कहते हुए कहा कि उन्होंने उनका दिल छू लिया।

सोनू बताया कि महिला ने बताया 12 मई को मेरी टीम ने प्रवासी मजदूरों को एक ग्रुप ( Darbhanga Migrant Workers Group ) मुंबई से दरभंगा के लिए रवाना किया था। जिसमें में दो गर्भवती महिलाएं ( Two Lady Was Pregant ) भी शामिल थीं। इनमें से एक को घर पहुंचते ही बच्चा हुआ। ये खुशखबरी उन्होंने मुझे फोन करके दी थी। लोगों की मदद में जुटे सोनू कई नई तरह से लोगों की सेवा में जुटे हुए हैं। उन्होंने एक हेल्पलाइन नंबर ( Helpline Number ) भी जारी किया है। जो कि एक टोल फ्री ( Toll Free ) है। जिस पर लोग फोन कर अपनी पेरशानियां उनके साथ शेयर कर रहे हैं।



😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments