सुशांत सिंह राजपूत ऐसे बीते थे आखिरी 24 घंटे, अंतिम बार बहन की थी बात

सुशांत सिंह राजपूत ऐसे बीते थे आखिरी 24 घंटे, अंतिम बार बहन की थी बात


साल 2020 की शुरूआत अच्छी नहीं रही है। एक तो महामारी कोरोना वायरस के कारण लोगों के पास काम नहीं। दूसरी तरफ बॉलीवुड सेलेब्स (Bollywood celebs) एक के बाद एक दुनिया को अलविदा कह रहे है। पिछले दो महीनों इंडस्ट्री को कई दिग्गजों की मौत हो गई है। रविवार को बॉलीवुड के उभरते अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। सुशांत सिंह की मौत की खबर जैसे ही सामने आई सभी एक बार किसी को यकीन नहीं नहीं हुआ। अभिनेता के इस कदम से उनके परिवार दोस्तों और प्रशंसक को काफी दुख हुआ। हर कोई यह सोचने के लिए मजबूर हो गया कि आखिरकार सुशांत सिंह ने ऐसा क्यों किया। उनके पास नाम, शोहरत, काम और ब्राइट फ्यूचर था। उनके पास किसी भी चीज की कमी नहीं थीं तो फिर उन्होंने ऐसा काम क्यों किया। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है और पड़ोसियों से पूछताछ की जा रही है। उनके पास कोई सुसाइड नोट (suicide note) भी नहीं मिला है।

ggg.png

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार अभिनेता के कमरे से कुछ दवाइयां और पेपर्स बरामद हुए है। इनसे पता चल रहा है कि सुशांत सिंह करीब छह महीनों से तनाव से गुजर रहे थे। उनकी मौत के बाद कई सवाल सामने आ रहे है। सबसे बड़ा सवाल यहे है कि अभिनेता ने पिछले 24 घंटे कैसे बीते होंगे। उनके दिमाग में ऐसा क्या चल रहा था जिसके कारण उन्होंने ऐसा कदम उठाया। इस प्रकार हर किसी के मन में कई सवाल खड़े हो रहे है। अगर सुशांत की मौत से पहले के 24 घंटे इन सवालों से उनकी मौत की गुथी सुलझाने में मदद करेगी।

sushant_dad.jpg

रिपोर्ट्स के मुताबिक, रात में 12 बजे के बाद सुशांत ने अपने दोस्त और एक्टर को कॉल किया था। लेकिन दोस्त ने उनका फोन नहीं उठाया। सुशांत सिंह 14 जून सुबह 6:30 बजे उठे थे। सुबह 9:30 बजे उन्होंने बहन से फोन पर बात की। इसके बाद सुशांत ने अपने दोस्त को भी फोन किया। इसके एक घंटे बाद यानी 10:30 बजे वे अपने कमरे से निकले और जूस लिया। वापस कमरे में लौट गए। थोड़ी देर बाद जब नौकर लंच पूछने गया तो कमरा बंद था और वो दरवाजे को खोल नहीं रहे थे। साथ रहने वाले दोस्तों और नौकरों ने सुशांत को फोन भी किया लेकिन फोन नहीं उठाया गया। इसपर सब घबरा गए।

सुशांत की बहन को फोन किया गया। बहन ने कॉल्स की लेकिन उन्होंने फोन भी नहीं उठाया। इसके कुछ समय बाद बहन भी सुशांत के घर पहुंच गईं। 12:30 बजे कमरा खुलवाने की कोशिश की गई। कमरा नहीं खुलने पर चाबी बनाने वाले को बुलाया गया। चाबी वाले ने लॉक खोल दिया। दरवाजा खोलते ही सभी के पैरों तले जमीन खिसक गई। जब दरवाजा खुला उस समय सुशांत की बहन, उनके साथ रहने वाला आर्ट डिजाइनर दोस्त और उनका नौकर मौजूद थे।



😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments