BJP सासंद ने उन प्रोड्यूसर्स पर केस करने की मांग की है, जिन्होंने Sushant को फिल्मों से निकाला था

BJP सासंद ने उन प्रोड्यूसर्स पर केस करने की मांग की है, जिन्होंने Sushant को फिल्मों से निकाला था


नई दिल्ली: एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Rajput Death) के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री कटघरे में खड़ी है। बॉलीवुड से भी कई लोगों ने दबी आवाज में ही सही लेकिन इंडस्ट्री के काले सच को उजागर किया है। वहीं, अब BJP सांसद निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey) ने भी एक वीडियो के जरिए पूर्वांचल के कलाकारों से अपील की है कि फिल्म इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद, सिंडिकेट, माफिया के खिलाफ संघर्ष की शुरुआत करनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने उन प्रोड्यूसर्स के खिलाफ केस की मांग की है, जिन्होंने सुशांत सिंह राजपूत को फिल्मों से निकाला था, उन्हें बैन किया था। उनका कहना है कि उन प्रोड्यूसर्स पर आत्महत्या करने के लिए उकसाने का केस दर्ज होना चाहिए।

निशिकांत दुबे ने अपने ट्विटर हैंडल (Nishikant Dubey Tweet) से एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह कहते हैं कि पूर्वांचल, बिहार, यूपी, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के लोग, जिनके कारण फिल्म इंडस्ट्री चलती हैं, अगर इनके बच्चे मुंबई की तरफ रुख करते हैं तो उन्हें प्रताड़ित किया जाता है, जिससे वह आत्महत्या जैसा कदम उठा लें। उन्होंने आगे कहा कि एक वक्त था जब फिल्म इंडस्ट्री पर दाउद इब्राहिम का कब्जा था लेकिन पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने उसका इंडस्ट्री का स्टेटस देकर उसे ठीक करने का प्रयास किया। लेकिन इसके बाद मुंबई के एक बड़े सिंडिकेट जिसमें कि भाई-भतीजावाद हावी है, जिसके अंतर्गत किसी एक्टर का बेटा ही एक्टर हो सकता है। किसी का भतीजा ही एक्टर हो सकता है।

प्रोड्यूसर्स पर हो केस दर्ज

लेकिन कोई पूर्वांचल या अन्य राज्यों का कलाकार जाना चाहता है तो उसे दलाली में, करप्शन में प्रताड़ित करने की कोशिश की जाती है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के कलाकारों को सरकार पर दबाव बनाना चाहिए कि वो अपनी एक अलग फिल्म इंडस्ट्री बनाएं। इसके बाद निशिकांत दुबे ने कहा, मैं महाराष्ट्र पुलिस से आग्रह करूंगा कि जिन प्रोड्यूसर्स ने सुशांत सिंह को बायकॉट किया था, फिल्मों से निकाला था उनके खिलाफ एफआईआर करके आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज होना चाहिए।



😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments