अर्जुन कपूर ने कहा- मुझे याद रहता है मेरी चश्मिश बहन किताबी कीड़ा है, 'नीरजा' के डायरेक्टर बोले- वे सबकी केयर करती हैं

अर्जुन कपूर ने कहा- मुझे याद रहता है मेरी चश्मिश बहन किताबी कीड़ा है, 'नीरजा' के डायरेक्टर बोले- वे सबकी केयर करती हैं


सोनम कपूर आज मंगलवार (9 जून) को मुंबई मेंअपना 35वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। वे हाल ही में दो महीने बाद दिल्ली से अपने मायके पहुंची हैं। इस मौके पर दैनिक भास्कर ने सोनम को लेकर उनके कजिन अर्जुन कपूर और उनकी नेशनल अवॉर्ड विनिंग फिल्म ‘नीरजा’ के डायरेक्टर राम माधवानी से बात की।

बहन के बारे में बात करते हुए अर्जुन ने कहा, ‘सोनम को हमेशा से ही किताबें पढ़ने का बहुत शौक रहा है। उसकी यह आदत किसी के लिए भी बहुत इंस्पायर करने वाली है। अच्छी बात यह है कि वह बचपन से लेकर आज तक इस पर कायम है। उसका यही पढ़ाकू नेचर मुझे बहुत पसंद है।'

किताबी कीड़ा है सोनम

अर्जुन ने आगे कहा, 'बचपन में तो वो चार-पांच किताबें, सिर्फ दो से तीन दिनों में ही खत्म कर देती थी। उसकी पर्सनालिटी का वह हिस्सा मुझे हमेशा याद दिलाता है कि मेरी एक चश्मिश बड़ी बहन है, जो किताबी कीड़ा है।'

फिल्मों में ग्लैमरस, लेकिन असलियत में बेहद सिम्पल

'जो लोग उसे करीब से नहीं जानते उनके लिए सोनम सिर्फ एक एक्ट्रेस है पर सच कहूं तो वो एक बेहद ही संजीदा इंसान है। फिल्मों में भले ही वह कितनी ही ग्लैमरस स्टार क्यों न लगे पर रियल लाइफ में वह बहुत ही सिंपल है।’

माधवानी ने कहा- मैं उनके काम का मुरीद

इस मौके पर सोनम की फिल्म ‘नीरजा’ के डायरेक्टर राम माधवानी ने कहा, ‘नीरजा’ के किरदार के लिए हमारे को-प्रोड्यूसर अतुल कस्बेकर के जेहन में सोनम कपूर ही थीं। मैं खुद सोनम के काम का मुरीद था। खुशकिस्मती है कि उन्होंने इस फिल्म के लिए हामी दी।

फिल्म के लिए ली थी एयर होस्टेस की ट्रेनिंग

आगे माधवानी ने कहा, 'आइडिया सुनने के बाद सोनम हमारे साथ चंडीगढ़ गईं और नीरजा के परिवार वालों से मिलीं। वहां पहली मुलाकात में नीरजा की मां सोनम को देखकर बोलीं, ‘ऐसा लगता है जैसे नीरजा ही आ गई हो मगर हां, मेरी बेटी थोड़ी ज्यादा सुंदर थी।’ फिल्म की शूटिंग से पहले सोनम ने बड़ी शिद्दत से रोजाना 10 से 12 घंटे एयर होस्टेस की ट्रेनिंग को दिए। हमने बहुत प्यार से इस फिल्म की शूटिंग पूरी की थी।'

काफी केयरिंग हैं सोनम कपूर

उन्होंने बताया 'मुझे याद है 'नीरजा' की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस से एक रात पहले उन्होंने मुझसे कहा था कि राम एक रुमाल जरूर अपने साथ रख लेना, क्योंकि प्रेस कॉन्फ्रेंस में सामने से लाइट बहुत आती है जिससे चेहरे पर पसीना निकलता रहेगा तो रुमाल आपको उससे बचाएगा। कहने का मतलब यह है कि वे लोगों की इस हद तक केयर करती हैं।'

राम ने बताया,'सोनम के साथ काम करके ऐसा लगा जैसे कोई बड़ी बहन मेरी केयर कर रही है। 5 जून को मेरा बर्थडे था तो उन्होंने फूल भी भेजे थे। शायद यही चीजें उन्होंने विरासत में अपने पिता से ली हैं।'



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सोनम कपूर का जन्म 9 जून 1985 को हुआ था। उन्होंने बिजनेसमैन आनंद आहूजा के साथ दो साल पहले शादी की थी।

😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments