सोफिया हयात का छलका दर्द, कहा "फिल्म देने के बदले मुझ पर चांस माराना चाहते थे मेकर्स"

सोफिया हयात का छलका दर्द, कहा "फिल्म देने के बदले मुझ पर चांस माराना चाहते थे मेकर्स"


नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के बाद इंडस्ट्री में नेपोटिज्म (Nepotism) को लेकर विवाद शुरू हो गया है। हर कोई अपनी बीती बातें शेयर करके अपना गुस्सा जाहिर कर रहा है। इसी मामले में हॉट एक्ट्रेस सोफिया हयात (Actress Sofia Hayat) ने कुछ बड़े खुलासे किए। उनका कहना है कि फिल्में पाने के लिए समझौता करना पड़ता है, लेकिन वो अपने जमीर को नहीं बेच सकतीं। इसीलिए उन्हें ज्यादा कामयाबी हासिल नहीं हो पाई।

बिग बॉस-7 की कंटेस्टेंट रही सोफिया हयात (Sofia Hayat) ने नेपोटिज्म के बारे में एक इंटरव्यू में बताया कि उन्हें विदेशी होने के नाते काफी परेशानियां झेलनी पड़ी है। कई बड़े फिल्ममेकर्स और एक्टर्स ने मुझ पर चांस मारने की कोशिश की। वे शारीरिक समझौता चाहते थे। मगर मैंने कभी उन्हें खुद को हाथ तक लगाने नहीं दिया। उनसे दूरी बरतने के लिए मैं वर्किंग ऑवर्स के बाद किसी से मिलने नहीं जाती थी।

दबाव बनाने के लिए काटने लगे मेरे सीन
सोफिया का कहना है कि ग्लैमर इंडस्ट्री जितनी चमकदार दिखती है अंदर से उतनी ही डरावनी है। इसकी सच्चाई उन्हें काम करते वक्त पता चलीं। जब उन्होंने मेकर्स की बात नहीं मानी तो, "उन्होंने मेरा काम दूसरी लड़कियों को देने लगे। इतना ही नहीं उन्होंने फिल्म से मेरे सीन्स को भी काट दिए। जबकिकई फिल्में रोक दी गईं। वे हर बार मुझे अपनी बात मानने का दबाव बनाते थे। इसके बाद मैंने अपने देश वापस लौटने का फैसला किया। मैं नेपोटिज्म का शिकार नहीं बनना चाहती थी।'

बिग बॉस पर भी भड़की एक्ट्
सोफिया बिग बॉस-7 (Bigg Boss 7) की कंटेस्टेंट रह चुकी हैं। मगर वो अपनी इमेज को लेकर उस दौरान काफी सुर्खियों में थी। इस बात पर भी वो काफी नाखुश दिखीं। उन्होंने कहा कि उसे बतौर वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट बिग बॉस में एंट्री मिली। ये शो बड़ा प्लेटफॉर्म था, लेकिन ऐसा लगा कि ये शो उनकी इमेज को नुकसान पहुंचाने का एक प्लान था। बिग बॉस में उनके हिस्से को काट—छांटकर पेश किया गया है। इसलिए उनका असली कैरेक्टर दर्शकों के सामने नहीं आ पाया।



😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments