भाई- भतीजावाद पर अब कुमार सानू दी प्रतिक्रिया, कहा- 'कौन काम करेगा या नहीं ये फिल्म बनाने वाले...'

भाई- भतीजावाद पर अब कुमार सानू दी प्रतिक्रिया, कहा- 'कौन काम करेगा या नहीं ये फिल्म बनाने वाले...'




बॉलीवुड में जारी नेपोटिज्म विवाद के बीच अब दिग्गज सिंगर कुमार सानू का रिएक्शन सामने आया है। मंगलवार देर रात उन्होंने एक वीडियो जारी किया और सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि दी। साथ ही कहा कि नेपोटिज्म बॉलीवुड में बाकी जगहों से ज्यादा है। उन्होंने सुशांत को अमर बताते हुए उम्मीद भी जताई कि उनकी वजह से जो क्रांति आई है, उसके चलते आने वाली पीढ़ी को बराबरी से काम मिलेगा। 

सुशांत को बताया प्रेरणास्रोत

कुमार सानू ने वीडियो साझा करते हुए कैप्शन में लिखा है, "सुशांत सिंह राजपूत : एक प्रेरणास्रोत।" वे वीडियो कह रहे हैं- मुझे अभी तक यह विश्वास नहीं हो रहा कि सुशांत सिंह ने सुसाइड कर लिया। क्या है कि जहां तक मैंने सुना है तो वे बहुत ही पॉजिटिव इंसान थे, बहुत बढ़िया एक्टर थे और बहुत ही दयालु दिल वाले थे। बहुत कम समय में उन्होंने इतना अच्छा काम किया। बहुत सारी हिट फिल्में दीं। अपनी एक अच्छी जगह बना ली थी उन्होंने। 

बिहार से आए हुए ऐसे कितने टैलेंट हमारी इंडस्ट्री ने देखे। हमारे देश ने देखा। जैसे शत्रुघ्न सिन्हा साहब, मनोज बाजपेयी साहब, शेखर सुमन जी, उदित नारायण जी, और भी कई और आखिर में सुशांत सिंह राजपूत। उम्र में वह मेरे बच्चे की तरह है और इस छोटी उम्र में उसने बहुत ही अच्छा काम किया। काश सुशांत ने ऐसा कदम नहीं उठाया होता। 

'नेपोटिज्म सब जगह होती है'


सानू कहते हैं- सुशांत सिंह की डेथ से एक अलग ही क्रांति अभी दिखाई दे रही है। नेपोटिज्म सब जगह होती है। हमारे बॉलीवुड में थोड़ा ज्यादा। ये आप (फैन्स) हैं, जो हमें बनाते हैं। कौन किसको बनाएगा? कौन किसको इंडस्ट्री से निकाल देगा? ये हमारे फिल्म बनाने वाले या ऊपर के लोग तय नहीं कर सकते। ये आपके हाथ में है। आप ये बोल सकते हो कि किसे रखना है और किसे गिराना है। सारे आर्टिस्ट्स को आप ही बनाते हो।

स्ट्रगलर्स के लिए महत्वपूर्ण सलाह

कुमार सानू ने अपने वीडियो में मुंबई आने वाले स्ट्रगलर्स को महत्वपूर्ण सलाह भी दी। वे कहते हैं- जो लोग बाहर से बॉम्बे आते हैं स्ट्रगल करने के लिए। फिर चाहे फिल्म इंडस्ट्री हों या म्यूजिक इंडस्ट्री हों या फिर फिल्म से जुड़ी हुई कोई भी इंडस्ट्री हो। उनको मैं एक ही सलाह दूंगा कि मुंबई पहुंचते ही पहले आप एक जॉब पकड़ लो। उसके बाद स्ट्रगल करो। 

मैंने भी ऐसा ही किया था। मैंने भी एक जॉब पकड़ा। उसके बाद स्ट्रगल किया। इससे आपको रहने खाने की टेंशन नहीं होती। आपको किसी के सामने झुकना नहीं पड़ेगा। अपने टैलेंट को आप भरपूर दिखा पाएंगे। 

'सुशांत मर कर भी अमर हो गया'

सानू ने वीडियो के अंत में कहा- मुझे उम्मीद है कि सुशांत सिंह की वजह से आने वाली पीढ़ी को बराबरी से काम मिलेगा। ये मैं कहूंगा कि आज सुशांत सिंह मर के भी अमर हो गया। उनकी आत्मा को भगवान शांति दे। बस यही कह सकता हूं आज मैं।
😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments