सुशांत सिंह राजपूत का श्राद्ध कर्म, परिजन बोले- इस शून्य से हम स्तब्ध हैं !

सुशांत सिंह राजपूत का श्राद्ध कर्म, परिजन बोले- इस शून्य से हम स्तब्ध हैं !



भारतीय फिल्म जगत के नामचीन अभिनेता और बिहार के सपूत सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने मुंबई में बांद्रा स्थित अपने घर में 14 जून को फांसी लगा कर आत्महत्या (Suicide) कर ली थी. इसके बाद 15 जून को मुंबई में परिवार के पहुंचने के बाद सुशांत का अंतिम संस्कार किया गया. सुशांत के श्राद्ध कर्म की प्रक्रिया पटना के राजीवनगर स्थित उनके आवास पर पूरी की जा रही है. 25 जून को नख-बाल के बाद 26 जून को श्राद्ध कर्म किया गया. शनिवार यानि 27 जून को ब्रह्म भोज का आयोजन किया जा रहा है. इस दुख की बेला में शोक संतप्त परिवार ने एक संदेश जारी किया है जिसमें लिखा है- अलविदा सुशांत!

आपके लिए सुशांत सिंह राजपूत और हमारे लिए हमारा एकलौता और दुलारा गुलशन!

खुला दिल, बातूनी और तेज दिमाग, हर चीज को लेकर जिज्ञासु, हर बात को लेकर उत्सुक, बड़े सपने देखना और उन्हें सच कर दिखाना उनका शौक था. मुस्कुराते तो पोर-पोर खिल उठता था. परिवार के बड़ों का गौरव और बच्चों के प्रेरणा पुंज थे. एक दूरबीन हमेशा साथ रखते. शनि ग्रह के छल्ले को निहारने का शौक था. हमें यह मानने में बरसों लगेंगे कि उनकी सहज हंसी अब कभी हमारे कानों में नहीं गंजेगी. विज्ञान की बातें हमें समझाने की उन की ललक हमें फिर कभी देखने को नहीं मिलेगी. वे परिवार में कभी ना भरी जा सकने वाली रिक्तता छोड़ गए हैं. इस शून्य से हम स्तब्ध हैं.

वे अपने प्रशंसकों से बेहद प्यार करते थे. आप सब ने हमारे गुलशन पर जो असीम प्रेम बरसाया है उसके लिए हम हृदय से कृतज्ञ हैं. अब जब वह हमारे साथ नहीं है उनकी स्मृति को संजोने के लिए हमने सुशांत सिंह राजपूत फाउंडेशन की स्थापना की है. उद्देश्य सुशांत के पसंदीदा क्षेत्र जैसे कि सिनेमा विज्ञान और खेल में उभरती प्रतिभाओं को समर्थन देना है समर्थन व प्रोत्साहन देना है.

उनका बचपन पटना के राजीव नगर में बीता था. उनके आवास को हम उनका स्मारक बनाने जा रहे हैं. उनके हजारों किताब, दूरबीन, फ्लाइट सिम्युलेटर, गिटार, फर्निचर एवं अन्य चीजों को प्रदर्शित करने का विचार है. हमारी हार्दिक इच्छा है कि उनके प्रशंसक उनसे जुड़े रहें. सुशांत के इंस्टाग्राम पेज को करोड़ों प्रशंसक फॉलो करते हैं. हम इसे 'लिगेसी अकाउंट' की तरह चलाए रखना चाहते हैं जिससे कि सुशांत के दिल का रिश्ता उनके प्रशंसकों के साथ हमेशा बना रहे. शोक संतप्त परिवार!

बता दें कि बीते 14 जून को सुशांत की मौत मुम्बई मेंटेनेंस हुई थी और मुखाग्नि उनके पिता ने दिया था. सुशांत सिंह राजपूत के निधन से उनका परिवार सदमे में हैं. कहा जाता है कि वह कथित तौर पर डिप्रेसन में थे. सुशांत सिंह राजपूत अपनी प्रोफेशनल लाइफ के साथ साथ अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर भी खूब सुर्खियों में रहते थे.

सुशान्त अपने सभी भाई बहनों में सबसे छोटे थे. उनके एक बहनोई आईपीएस अफसर हैं जो हरियाणा कैडर में एडीजी हैं. अपना चचेरा भाई बिहार में बीजेपी के विधायक हैं और भाभी विधान परिषद की सदस्य हैं. गौरतलब है कि सुशांत ने आत्महत्या क्यों की, इसकी वजह अब तक पता नहीं चली है. सुशांत की मौत की गुत्थी सुलझाने में पुलिस जुटी हुई है.
😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments