एसपी विनय तिवारी बोले- मेरा सारा खर्च बिहार सरकार उठा रही, अच्छा होगा अगर 2-3 दिन में मुझे रिलीज कर दें

एसपी विनय तिवारी बोले- मेरा सारा खर्च बिहार सरकार उठा रही, अच्छा होगा अगर 2-3 दिन में मुझे रिलीज कर दें


सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच करने मुंबई पहुंचे पटना एसपी विनय तिवारी को बीएमसी ने जबरन क्वारैंटाइन कर दिया है। सूत्रों से पता चला है कि यह ‘पॉलिटिकल स्टंट’ है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि 14 दिनों के बजाय उन्हें अगले कुछ दिनों में ही रिलीज किया जाएगा। ताकि वे जांच पूरी कर सकें। दैनिक भास्‍कर से खास बातचीत में विनय तिवारी ने पुलिस महकमे और पॉलिटिकल गलियारों में घूम रहे सवालों के जवाब दिए हैं। पेश हैं बातचीत के अंश:-

Q. आपके कलीग्स ने जो जांच की है, उससे अब तक क्या कुछ पता चला?

विनय तिवारी: वह तो अभी नहीं बता पाऊंगा। आगे क्‍या एंगल रहने वाला है, यह भी बिहार के सीनियर अफसरों के निर्देश पर तय होगा।

Q. सुनने में आया है कि शायद अगले दो-तीन दिनों में आप रिलीज होने वाले हैं?

विनय तिवारी: अच्‍छा ही होगा, ऐसा हुआ तो।

Q.सुशांत के सीए का लगातार कहना है कि उनके अकाउंट से कोई लेन-देन नहीं हुआ?

विनय तिवारी: इन सब पर मैं इस वक्‍त कमेंट नहीं कर सकूंगा, क्‍योंकि इनवेस्टीगेशन जारी है। अभी तो बहुत बेसिक जांच चल रही है। हम चाहते हैं कि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों के बयान ले पाएं। हमारे पास अभी भी बहुत से लोगों के बयान नहीं हैं।

Q. बिहार पुलिस क्‍या मान रही है? सुसाइड है या मर्डर?

विनय तिवारी: एक स्टेटमेंट के आधार पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। पूरी जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि सुसाइड है या मर्डर? ऐसे कैसे कह सकते हैं हम लोग?

Q. पर टीवी चैनलों में जो एक्सपर्ट आ रहे हैं, उनका कहना है कि सुसाइड के मामले में लिगेचर मार्क वैसा होता ही नहीं है ?

विनय तिवारी: मैंने आपको बताया तो कि इस वक्‍त इस मामले में मैं कुछ कमेंट नहीं कर पाऊंगा।

Q. आपके महकमे के और जो साथी आए हैं, वे कितने दिन और मुंबई में ठहरने वाले हैं?

विनय तिवारी: चूंकि परिस्थितियां बदल रही हैं। इन्हें देखते हुए ही ठहरने या वापस जाने के बारे में फैसले लिए जाएंगे।

Q. सारा खर्च बिहार सरकार उठा रही है या महाराष्‍ट्र सरकार?

विनय तिवारी: बिहार सरकार के आदेश पर काम कर रहे हैं। ठहरने का सारा खर्च वही उठा रही है।

Q. क्या कारण है कि मुंबई पुलिस सहयोग नहीं कर रही है?

विनय तिवारी: मैं ऐसे कैसे कह सकता हूं? अधिकारी का काम ड्यूटी करना है। मेरा ओपिनियन तो तभी आ सकता है, जब साक्ष्य सामने आएंगे।

Q. अगर प्राइमरी लेवल पर ही साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ हो चुकी हो, तब तो सच को सामने ला पाना बहुत मुश्किल है?

विनय तिवारी: इसके बारे में मैं अभी क्‍या बोलूं? यह कहना अभी संभव नहीं है कि छेड़छाड़ हुई है या नहीं। हम लोगों को तो जिस स्थिति में चीजें मिलेंगी, उसी में काम करना है। अपना सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश करेंगे। ताकि केस में जस्टिस हो सके।

Q. कभी पटना प्रवास के समय सुशांत ने आपसे मुलाकात की?

विनय तिवारी: जी कभी नहीं।

सुशांत केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

सुशांत सुसाइड केस:बिहार के डीजीपी का बड़ा हमला- 4 साल में सुशांत के खाते में 50 करोड़ रुपए जमा हुए थे, मुंबई पुलिस ने यह पैसा निकाले जाने की जांच क्यों नहीं की?

सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती के वकील का बयान:एक्ट्रेस के वकील ने कहा- वे लापता नहीं हुई हैं, जांच में सहयोग कर रहीं, बिहार पुलिस ने उन्हें आज तक कोई नोटिस नहीं भेजा

सुशांत सुसाइड केस:एफआईआर दर्ज होने के बाद रिया चक्रवर्ती का पहला रिएक्शन, रोते हुए हाथ जोड़कर बोलीं- मुझे न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा, जीत सत्य की होगी

सुशांत के बैंक स्टेटमेंट से खुला राज:रिया चक्रवर्ती ने 5 बार पूजा-पाठ के नाम पर निकाले थे पैसे, परिवार का दावा- पैसे का इस्तेमाल सुशांत पर जादू-टोने के लिए किया गया

मुंबई पुलिस कमिश्नर का खुलासा:सुशांत गूगल पर दर्द रहित मौत के बारे में सर्च करते थे, 2019 में जनवरी से जून के बीच उनके खाते में 14.5 करोड़ रुपए क्रेडिट हुए थे



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पटना एसपी विनय तिवारी 2 अगस्त की दोपहर मुंबई पहुंचे थे। उसी रात 11 बजे कोरोना नियमों का हवाला देते हुए बीएमसी ने उन्हें जबरन क्वारैंटाइन कर दिया।

😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments