कंगना की अगली फिल्म 'अपराजित अयोध्या' में रियल मुस्लिम किरदार और 600 वर्षों का संघर्ष

कंगना की अगली फिल्म 'अपराजित अयोध्या' में रियल मुस्लिम किरदार और 600 वर्षों का संघर्ष


अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन किया। पूरे देश में लोगों ने इसे उत्सव की तरह मनाया। दीये जलाए और पटाखे फोड़े गए। बॉलीवुड सेलेब्स ने भी सोशल मीडिया के जरिए बधाई दी। अभिनेत्री कंगना रनोत की टीम ने भी सोशल मीडिया पर राम मंदिर की दो तस्वीरें पोस्ट की। इस मौके पर कंगना ने एक इंटरव्यू में अपनी आगामी फिल्म 'अपराजित अयोध्या' के बारे में भी बात की। यह फिल्म अयोध्या और राम मंदिर पर ही आधारित है। उन्होंने कहा कि फिल्म 'अपराजिता अयोध्या' राम मंदिर की पूरी छह शताब्दी पुरानी यात्रा का वर्णन करेगी।


राम मंदिर एक भावना

इस ऐतिहासिक पल पर कंगना ने कहा, 'राम मंदिर सिर्फ एक मंदिर नहीं है, बल्कि एक भावना है। मेरे लिए अयोध्या बहुत प्रतीकात्मक है और पिछले 500-600 वर्षों की यह यात्रा जो हमारे पास एक सभ्यता के रूप में है, मेरे लिए बहुत ही रोमांचक है।'

कंगना की अगली फिल्म 'अपराजित अयोध्या' में रियल मुस्लिम किरदार और 600 वर्षों का संघर्ष

निर्देशन की बागडोर संभालेंगी

कंगना इस फिल्म का निर्देशन भी करेंगी। इसमें उनके साथ 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' के लेखक के.वी. विजयेंद्र प्रसाद भी जुड़ेंगे। कंगना ने कहा, 'मंदिर का 600 वर्षों का संघर्ष रहा है। इसके बाद 72 लड़ाइयां लड़ी गईं और प्रथम विद्रोह के दौरान भी अंग्रेजों ने मंदिर का उपयोग हिंदुओं और मुस्लिमों को विभाजित करने के लिए था क्योंकि हिंदू और मुसलमान स्वतंत्रता के लिए मिलकर लड़ रहे थे और यह उन्हें विभाजित करने का एक प्रयास था।'

फिल्म में कई वास्तविक मुस्लिम किरदार

कंगना ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में भूमिपूजन का यह ऐतिहासिक पल भी फिल्म की एक कड़ी होगी। साथ ही उन्होंने बताया,'मेरी फिल्म में कई वास्तविक मुस्लिम किरदार हैं, जिन्होंने राम मंदिर के पक्ष में लड़ाई लड़ी है। इसलिए यह देश में भक्ति, विश्वास और सबसे ऊपर, एकता की कहानी है। राम राज्य एक धर्म से परे है और यही 'अपराजिता अयोध्या' है। यह बहुत कठिन स्क्रीनप्ले है क्योंकि यह 600 वर्षों में यात्रा दर्शाता है और राम मंदिर का भूमिपूजन बहुत हद तक मेरी फिल्म का हिस्सा होगा।'


ये फिल्में भी बनीं राम मंदिर पर

'अपराजित अयोध्या' से पहले भी अयोध्या के राम मंदिर पर फिल्में बन चुकी हैं। वर्ष 2019 में दो फिल्में बनी थीं। एक फिल्म का नाम था 'राम जन्मभूमि'। फिल्म को उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैय्यद वसीम रिजवी ने बनाया था। इसकी कहानी भी उन्होंने ही लिखी थी। फिल्म में राम मंदिर आंदोलन से जुड़ी विभिन्न घटनाओं को शामिल किया गया था। इसकी शूटिंग अयोध्या के कई महत्वपूर्ण स्थलों पर की गई थी। इसके अलावा भोजपुरी में एक फिल्म वर्ष 2019 में ही रिलीज हुई थी। इसका नाम 'मंदिर वहीं बनाएंगे' है।



😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments