अभिनेता की बहन ने न्यूज एंकर को रियल हीरो बताया, शिवसेना ने कहा- महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने उठाया जा रहा मुद्दा

अभिनेता की बहन ने न्यूज एंकर को रियल हीरो बताया, शिवसेना ने कहा- महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने उठाया जा रहा मुद्दा


सुशांत सिंह राजपूत की बड़ी बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने एक ट्वीट करते हुए इस मामले में लगातार न्याय की मांग कर रहे टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी को रियल हीरो बताया है। उधर इसी मामले की कवरेज के दौरान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का नाम लेने को लेकर शिवसेना ने अर्नब पर सवाल उठाते हुए अपने मुखपत्र के जरिए हमला बोला है।

अर्नब को हीरो बताते हुए सुशांत की बड़ी बहन ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'हमारा असली हीरो, हम सब आपसे प्यार करते हैं अर्नब #रियल हीरो अरनब # जस्टिस फोर सुशांत सिंह राजपूत # वॉरियर्स फोर सुशांत' इसके साथ ही उन्होंने अर्नब का एक फोटो भी शेयर किया।

शिवसेना ने अर्नब पर हमला बोला

महाराष्ट्र की सत्तारूढ़ पार्टी शिवसेना ने रविवार को अपने मुखपत्र 'सामना' के जरिए अर्नब पर हमला बोला। अखबार के संपादक और शिवसेना नेता संजय राउत ने लिखा, 'मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर न्यूज एंकर अर्नब गोस्वामी के अशिष्ट हमले को देखने के बाद NCP (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) सुप्रीमो शरद पवार ने मुझे फोन किया था और कहा था कि एक समाचार चैनल पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के खिलाफ इस तरह की अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल कैसे कर सकता है, वो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हैं और मुख्यमंत्री सिर्फ एक व्यक्ति नहीं होता है, बल्कि एक संस्था होती है।'

पवार ने कहा था- अच्छा संदेश नहीं जा रहा

राउत के मुताबिक पवार ने उनसे फोन पर कहा कि 'इस तरह की बातों से अच्छा संदेश नहीं जा रहा और ऐसा लग रहा है कि इस मामले में सरकार क्या कर रही है?' राउत ने आगे आरोप लगाते हुए कहा कि वो चैनल मुख्यमंत्री के खिलाफ अशिष्ट भाषा में जहर उगल रहा है और उसे सहन किया जा रहा है, क्योंकि उस चैनल को महाराष्ट्री की राजनीतिक पार्टियों का समर्थन मिला हुआ है। इस केस में सुशांत सिर्फ माध्यम हैं और इस कवरेज का असली मकसद उद्धव ठाकरे सरकार को बदनाम करना है।

बिहार और दिल्ली पर राजनीति का अरोप लगाया

राउत ने कहा, 'सुशांत सिंह राजपूत मौत को लेकर बिहार और दिल्ली में जिस तरह की राजनीति हो रही है, मेरा मानना है कि ये महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ रची गई साजिश है। मुंबई पुलिस एक सक्षम फोर्स है और सच्चाई सामने लाने की पूरी कोशिश कर रही है।' इसके अलावा उन्होंने लिखा कि किसी प्रकरण का राजनीतिकरण करना है, इसके लिए सीबीआई, ईडी जैसी केंद्रीय संस्थाओं का उपयोग करना, ये सब झकझोर कर रख देने वाला है।

##

शिवसेना ने बिहार पुलिस पर सवाल उठाए

इसके साथ ही शिवसेना ने बिहार पुलिस पर भी सवाल उठाते हुए अर्नब को दिए बिहार पुलिस के DGP गुप्तेश्वर पांडेय के इंटरव्यू को पुलिस बल के लिए निर्धारित अनुशासन का उल्लंघन करने वाला और मुंबई पुलिस की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने वाला बताया है। पार्टी के मुताबिक सुशांत मौत मामले में बिहार पुलिस का दखल गैर जरूरी है। सेना के लेख में यह भी कहा गया है कि सुशांत की मौत का राजनीतिकरण किया गया है और ये स्पष्ट रूप से आत्महत्या का मामला था।

ईडी अबतक कर चुका कई लोगों से पूछताछ

सुशांत मौत मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी मनी लॉन्डरिंग के एंगल से जांच कर रहा है। विभाग ने शुक्रवार को एक्ट्रेस को पूछताछ के लिए बुलाया था और उनसे लगभग साढ़े आठ घंटे सवाल-जवाब किए थे। इसके बाद शनिवार को उनके भाई शोविक को बुलाया गया और उनसे करीब 20 घंटे तक पूछताछ चली। शनिवार को दोपहर करीब 12.30 बजे ईडी ऑफिस पहुंचे शोविक रविवार सुबह 6.40 पर ही वहां से निकल पाए थे। इस केस में ईडी रिया के सीए रितेश शाह, सुशांत की पूर्व बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी और सुशांत के फ्लैट मेट सिद्धार्थ पिठानी से भी पूछताछ कर चुका है।

सोमवार को फिर होगी रिया से पूछताछ

शुक्रवार को पूछताछ में रिया कई सवालों के ठीक से जवाब नहीं दे पाई थीं। मसलन वे अपने और अपने पिता इंद्रजीत के नाम पर रजिस्टर्ड दो फ्लैट्स के बारे में साफ-साफ कुछ नहीं बता पाईं। अपनी आय और खर्चों को लेकर भी वे स्थिति स्पष्ट नहीं कर सकीं। यही वजह है कि प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें सोमवार को फिर पूछताछ के लिए बुलाया है। बताया जा रहा है कि रिया से आगे के सवाल शोविक से हुई पूछताछ के आधार पर किए जाएंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
शिवसेना सांसद संजय राउत ने सुशांत मामले में चल रही मीडिया कवरेज को राजनीति से प्रेरित बताते हुए इसके पीछे महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाया।

😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments