सोनाक्षी और भूमि ने बताया बचपन में किस तरह मनाते थे आजादी का जश्न, कोरोना के चलते इस बार घर में ही सेलिब्रेट करने की अपील की

सोनाक्षी और भूमि ने बताया बचपन में किस तरह मनाते थे आजादी का जश्न, कोरोना के चलते इस बार घर में ही सेलिब्रेट करने की अपील की


देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दैनिक भास्कर ने कुछ बॉलीवुड एक्ट्रेसेस से बात करते हुए इस दिन से जुड़ी उनकी खास यादों के बारे में बात की। इस दौरान सोनाक्षी सिन्हा, भूमि पेडणेकर और वाणी कपूर ने इस त्योहार से जुड़ा अपना अनुभव शेयर किया। सोनाक्षी ने बताया कि वे ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद भी तिरंगे को सलामी देने के लिए कॉलेज जाया करती थीं।

बिजी शेड्यूल का बहाना बनाकर खुद को वक्त नहीं दिया

सोनाक्षी सिन्हा ने कहा, 'इस बार आजादी दिवस पर हम लोग यकीनन ढेर सारी चीजें मिस कर रहें हैं। लॉकडाउन के चलते ये भी जरूर महसूस हो रहा है कि हम लोगों ने पूरी जिंदगी फैमिली को कम वक्त दिया। अपनी आजादी को बहुत हल्के में लिया। अपने स्‍वास्‍थ्‍य का ख्‍याल कम रखा। खुद की पसंद-नापसंद का भी बारीकी से कम ध्‍यान रखा और इसके लिए बिजी शेड्यूल का बहाना बनाते रहे। अब इन सब बातों का भान लॉकडाउन ने करवा दिया।'

कोविड के जाने तक संभल कर रहना होगा

उन्होंने आगे कहा, 'ये जरूर है कि हम सब इतने लंबे समय तक घर पर बैठे रहने के आदी नहीं रहे हैं और हर कोई बाहर निकलकर काम करने की आजादी चाह रहा है। लेकिन हमें इस बात का ख्‍याल भी रखना होगा कि बाहर निकलने की आजादी हमारी जान की कीमत पर ना हो। जब तक कोविड-19 काबू में नहीं आता, तब तक हम-आप सभी को जरा धीरज रखना होगा।'

छोटी-छोटी चीजें करते हुए देशप्रेम जाहिर कर सकते हैं

सोनाक्षी के मुताबिक, 'इस साल तो आजादी का जश्‍न मनाने के लिए बाहर ना ही निकलें, क्योंकि वो बिल्कुल भी सेफ नहीं होगा। घर पर अपनी फैमिली के साथ रहकर ही इसे सेलिब्रेट करें। देश के प्रति अपना प्‍यार घर से ही जाहिर करें। देश को सपोर्ट करें।'

उन्होंने कहा, 'हम सब छोटी-छोटी चीजें करते हुए भी अपना देशप्रेम जाहिर कर सकते हैं। साफ-सफाई और जरूरतमंदों का ध्‍यान रखकर भी ये काम कर सकते हैं। एक-दूसरों को आगे बढ़ाने में सहायता कर देश को महान मुल्‍क बना सकते हैं।'

ग्रेजुएशन होने के बाद भी कॉलेज जाती थी

सोनाक्षी ने कहा, 'स्‍कूल-कॉलेज में ध्‍वजारोहण को बहुत पसंद करती थी। ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद भी तिरंगे को सलामी देने के लिए कॉलेज जाया करती थी। वो इसलिए क्योंकि ग्रुप में जो देशभक्ति की फीलिंग होती थी, उसे मिस करती थी। अपने साथी कलाकारों के साथ राष्‍ट्रगान में शामिल होना मिस करती थी। इसके अलावा हाल के बरसों में भी मौका मिलने पर कॉलेज जाया करती थी।'

सोनाक्षी सिन्हा और भूमि पेडणेकर।

भूमि बोलीं- इस बार सबको आजादी के मायने पता चले


एक्ट्रेस भूमि पेडणेकर ने कहा, 'तालाबंदी के कारण इस बार हम सब घरों में बंद हैं और सभी को स्वतंत्रता के मायने पता चल रहे हैं। इस बार तो तिरंगे को सलामी देना भी मुश्किल होगा साथ ही स्कूल के साथियों, कार्यालय के सहयोगियों या अपने पड़ोसियों का साथ भी नहीं मिलेगा। यह एहसास दिलाता है कि आजादी के अधिकार हम सभी में नैसर्गिक भाव से आते रहते हैं।'

कोरोना के खिलाफ हर भारतीय को योद्धा बनना होगा

भूमि के मुताबिक 'अनगिनत भारतीयों ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान लड़ाई लड़ी थी और आज हम कोरोनोवायरस के खिलाफ एक और लड़ाई लड़ रहे हैं। इसे हराने के लिए हम सभी को योद्धा बनना होगा। हम सावधान रहते हुए सामाजिक दूरी बनाए रखकर और हर समय मास्‍क पहनकर भारत को कोविड 19 के खिलाफ लड़ाई में जीत दिला सकते हैं। हर कोई ऐसा करने की शक्ति रखता है।'

अधिकारों और स्वतंत्रता की रक्षा करते हुए सेलिब्रेट करें

स्वतंत्रता दिवस मनाने का तरीका बताते हुए भूमि ने कहा, 'इस माहौल में स्वतंत्रता दिवस पर प्राउड इंडियन महसूस करने के लिए ये जरूरी नहीं है कि हमें एक साथ मिलकर ही सेलिब्रेट करना है। इसकी बजाए राष्ट्रगान को अपने घर में जोर-शोर से गाएं और उन अधिकारों और स्वतंत्रता की रक्षा करें, जो ज्ञात और अज्ञात सभी स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों के कारण हैं।'

बचपन में दिन बन जाता था

बचपन की याद शेयर करते हुए उन्होंने कहा 'मेरे स्कूल में हम सुबह-सुबह झंडे को सलामी देने के लिए इकट्ठा होते थे। बच्चों के रूप में हमें जल्दी जागना कठिन लगता था, लेकिन उत्सव में हमारे शिक्षकों और दोस्तों के साथ समय बिताने का मौका मिलने से दिन बन जाता था। स्‍कूल में भी वो एक ब्रेक सा दिन लगता था।'



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sonakshi Sinha and Bhumi Pednekar told how they celebrated independence in childhood, this time due to Corona, they appealed to celebrate at home.

😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments