मुंबई पुलिस कमिश्नर ने कहा- परिवार ने अपने स्टेटमेंट में किसी पर शक नहीं जताया था, रिया के खाते में पैसे ट्रांसफर करने के सबूत नहीं; बिहार पुलिस को नहीं जांच का अधिकार

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने कहा- परिवार ने अपने स्टेटमेंट में किसी पर शक नहीं जताया था, रिया के खाते में पैसे ट्रांसफर करने के सबूत नहीं; बिहार पुलिस को नहीं जांच का अधिकार


अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद पहली बार मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह सार्वजनिक रूप से मीडिया के सामने आये और इस केस से जुड़ी प्रोग्रेस को शेयर किया है। उन्होंने खुलासा किया कि परिवार ने पहले दिए बयान में किसी पर शक नहीं जताया था। सिंह ने कहा कि रिया के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर होने के कोई सबूत नहीं मिले हैं। उन्होंने एसपी को क्वारैंटाइन किए जाने के मुद्दे पर पलड़ा झाड़ते हुए कहा कि यह बीएमसी का मुद्दा है और वे अपने हिसाब से इस मामले में काम कर रहे हैं। कानून का हवाला देते हुए उन्होंने इशारों में कहा कि बिहार पुलिस को इस मामले में जांच का अधिकार नहीं है।

मामले में जांच अभी जारी है
मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने बताया, अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की एक्सीडेंटल डेथ रिपोर्ट 14 जून को बांद्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई थी। सुसाइड टाइप का जब कोई इंसीडेंट रिपोर्ट होता है तो उसमें 'एडीआर' दर्ज की जाती है। अभी भी यह इन्वेस्टिगेशन जारी है और हम किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं।

अबतक 56 लोगों के बयान हुए दर्ज
उन्होंने बताया कि इस मामले में बहुत ही डिटेल इन्वेस्टिगेशन की गई है। इसमें अब तक 56 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। कई एक्सपर्ट, फॉरेंसिक एक्सपर्ट और डॉक्टरों की टीम से भी मशविरा लिया गया है।

दो हिसाब से होती है ऐसे मामलों की जांच
परमबीर सिंह ने बताया कि सीआरपीसी के हिसाब से हमारा इन्वेस्टिगेशन जारी है, इस टाइप की किसी भी मामले में दो प्रकार से नतीजे निकल सकते हैं। पहला मामला होता है एक्सीडेंटल केस यानी कि आत्महत्या का और दूसरा अगर इसमें कोई क्रिमिनलिटी नजर आती है तो हम इसे संबंधित सीआरपीसी में कन्वर्ट कर देते हैं।

साइन स्टेटमेंट में परिवार ने किसी पर शक नहीं जताया था
जांच के दौरान अभिनेता के घर पर मौजूद सभी लोगों के बयान 16 जून को दर्ज किए थे। इसमें उनकी तीन बहने और उनके पिता शामिल हैं। यही नहीं उनके जीजा सिद्धार्थ तमर और ओपी सिंह का बयान भी साइन स्टेटमेंट लिया गया है। लेकिन किसी ने अपने बयान में किसी पर भी शक नहीं जताया था। कृष्ण कुमार सिंह ने भी अपना स्टेटमेंट दिया है और उनका सिग्नेचर हमारे स्टेटमेंट पर है। और उन्होंने अपनी स्टेटमेंट में किसी के ऊपर शक नहीं बताया है।

सुशांत को थी साइकेट्रिक प्रॉब्लम
मुंबई पुलिस कमिश्नर ने अपने बयान में यह भी कहा है कि सुशांत को साइकेट्रिक प्रॉब्लम की जानकारी उनके परिवार को पहले से थी। इस बात की पुष्टि उनके उनके फ्लैट से मिले मेडिकल पेपर भी करते हैं। वे 5 साइकेट्रिक डॉक्टर को कंसल्ट कर रहे थे।
बिहार पुलिस के जांच के तरीकों का कानूनी परिक्षण किया जा रहा
बिहार पुलिस ने इस मामले में जो एफआईआर दर्ज की है, उस मामले में उनकी ओर से हमें अप्रोच जरूर की गई थी, लेकिन उनकी जो इन्वेस्टिगेशन जूरी डिक्शन से बाहर चल रही है उसकी लीगैलिटी को लेकर जांच जारी है। हम यह चेक कर रहे हैं कि सीआरपीसी या किसी अन्य कानूनी धारा उन्हें सीमा से बाहर जाकर जांच का अधिकारी देती है या नहीं? कानूनी राय मिलने के बाद हम इस मामले में आगे की कार्रवाई करेंगे।
हमें जो जानकारी है इस हिसाब से पहले दूसरी ज्यूरीडिक्शन में जीरो एफआईआर की जाती है और फिर संबंधित थाने में इसे ट्रांसफर किया जाता है। हमारी जांच सही दिशा में चल रही है।
रिया के खाते में पैसे डालने का सबूत नहीं मिले
परमबीर सिंह ने साफ़ किया कि सुशांत सिंह के बैंक खातों की भी जांच की जा रही है और उनके सीए से भी इस मामले में पूछताछ कर रही है। जांच में सामने आया है कि उनके बैंक खाते में 18 करोड़ रुपए थे, जिसमें से 4 करोड़ रुपए अभी भी बचे हुए हैं। रिया के खाते में पैसे ट्रांसफर करने के सवाल पर परमबीर सिंह ने कहा,"हमें कोई सबूत नहीं मिले हैं कि रिया के खाते में किसी तरह से इतने पैसे ट्रांसफर हुए थे।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह इस मामले में कुछ चुनिंदा चैनलों से अपने बयान को शेयर कर रहे थे, इसको लेकर मुंबई में मीडिया का एक धड़ा नाराज भी बताया जा रहा है।

😍 यदि आप भी हैं खाने के शौक़ीन तो देखें ये वीडियो  👇👇





Post a Comment

0 Comments